राष्ट्रीय सिंधी अधिकार मंच

Home / Sindhi Language / राष्ट्रीय सिंधी अधिकार मंच

राष्ट्रीय सिंधी अधिकार मंच

​Jai Jhulelal

*Empowerment of Sindhis Whatsapp Broadcast* { To Receive Message Send Your Name, City, Age, Country to 9559544477 on Whatsapp}

इस मंच की अभिकल्पना देश के प्रमुख सिंधी सामाजिक कार्यकर्ताओं के लिए बनाये गए व्हाट्सएप्प ग्रुप The Sindhi Think Tank में हुई चर्चाओं का परिणाम है। यह मंच सिंधी समाज की सभी मौजूदा सामाजिक संस्थाओं का संयुक्त प्लेटफार्म है जिसका उद्देश्य सिंधी समाज के संवैधानिक, प्रसाशनिक और सामाजिक अधिकारों के लिए मिलकर सिंधी समाज को जागरूक करना और उन अधिकारों को हासिल करने के लिए हरसंभव प्रयास करना है।

सिंधी समाज की मौजूदा स्तिथि अत्यंत दयनीय है। यह एक नेतृत्व विहीन, प्रान्तविहीन, दिशाहीन और पूरी तरह से बिखरा हुआ समाज है। भारत विभाजन के दुष्परिणामों की वजह से और उस समय भी सही नेतृत्व के आभाव में यह समाज आजाद भारत में अपना राज्य न हासिल कर पाने की वजह से पूरे विश्व में दाना दाना होकर बिखर गया। शिक्षा के आभाव और सशक्त नेतृत्व के आभाव में इस समाज की भारत में अन्य समाजों की तुलना में दयनीय स्थिति है। 

पुरे भारत में बिखरे होने की वजह से हम वर्तमान परिदृश्य में राजनितिक दलों के लिए कोई महत्त्व नहीं रखते है और उचित मार्गदर्शन के आभाव की वजह से हमारा राजनितिक, प्रसाशनिक और न्यायिक प्रतिनिधित्व न के बराबर है। प्रतिनिधित्व के आभाव में हमारी भाषा, संस्कृति, लिपि और हमारी पहचान लुप्त होने के कगार पर है। अभी भी यदि अपनी विरासत को बचाने के लिए यदि मजबूत प्रयास न किये गए तो एक पूरी संस्कृति लुप्त हो जायेगी। 

अपनी संस्कृति को बचाने के लिए हमें भारत के सभी संवैधानिक पदों पर अपना प्रतिनिधीत्व सुनिश्चित करना होगा। सिंधी समाज भारत के संविधान में सभी वर्गों को प्रद्दत अधिकारों से अंजान है और उदासीन है। हमारे संविधान निर्माताओं ने सभी संस्कृतियों और सामाजिक समूहों के अधिकारों की व्यवस्था संविधान में की है। आज के परिदृश्य में जब भारतीय राजनीति में  जातिवाद हावी है और संख्या बल ही अपने हक़ हासिल करने का सबसे सरल तरीका है ऐसा स्तिथि में हम जैसा नेतृत्वविहीन समाज सशक्तिकरण की दौड़ में कहीं पीछे रह जाता है जिसके लिए हम खुद ही जिम्मेदार है। आज भी हमारे समाज में केवल पूंजीपति व्यवसायी ही रोल मॉडल माना जाता है और राजनितिक और प्रसाशनिक कैरियर के प्रति पूर्ण उदासीनता है जिसका खामियाजा आज हम सभी को उठाना पड़ रहा है।

सिंधी समाज ने आर्थिक सशक्तिकरण को ही वास्तविक सशक्तिकरण माना जिसके परिणाम आज सभी के सामने हैं। लेकिन आशा की किरण जगी है। आज हमारे बीच राजाराम जी जैसा वरिष्ठ प्रसाशनिक अधिकारी है जो सिन्धियत से प्रेम करता है और पूरे देश में सिन्धियों के वास्तविक सशक्तिकरण के सन्देश को फैला रहा है। हमारे बीच में रवि टेकचन्दानी जी जैसा सिंधी भाषा का विशेषज्ञ है जो सिन्धियों के सशक्तिकरण अभियान में सिंधी भाषा के महत्त्व को पूरे देश तक पहुचाने में अथक प्रयास कर रहा है। इन्हीं दोनों के मार्गदर्शन और सहयोग से सिंधी समाज में जो नेतृत्व का आभाव है उसे दूर करने का यह प्रयास राष्ट्रीय सिंधी अधिकार मंच है।

राष्ट्रीय सिंधी अधिकार मंच की प्रथम बैठक आगामी 30, 31 जुलाई को भोपाल में आहूत की गयी है। इस पहली बैठक का पहला एजेंडा सिन्धियों को NCM एक्ट की अंतर्गत अल्पसंख्यक का दर्जा दिलवाने की रणनीति पर चर्चा करना है। साथ ही सिंधी समाज के सशक्तिकरण अभियान के अन्य सभी महत्वपूर्ण पहलुओं पर विस्तृत जानकारी सभी मौजूद लोगों को उपलब्ध कराई जायेगी।  अब तक जो सिंधी समाज में सशक्त नेतृत्व का आभाव है उसको दूर करने के लिए यह राष्ट्रीय सिंधी अधिकार मंच की पहली कार्यशाला होगी। 

सिंधी समाज की सभी मौजूदा सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों से अपील है कि यदि वे भविष्य की सिंधी पीढ़ी का नेतृत्व करना चाहते हैं तो जरूर इस कार्यशाला में सम्मिलित हों। यह कार्यशाला सिंधी समाज का टर्निंग पॉइंट होने जा रही है। इस दिशाविहीन प्रान्तविहीन समाज का दशापरिवर्तन होने जा रहा है। इस कार्यशाला में आपको सिंधी समाज के ऐतिहासिक, सामाजिक, राजनितिक, प्रसाशनिक और आर्थिक पहलुओं के ऊपर विस्तृत  जानकारी दी जायेगी और उस जानकारी के क्रियान्वयन की रणनीति पर भी विस्तृत चर्चा होगी।

जो प्रतिनिधि इस कार्यशाला में सम्मिलित होना चाहें वे नीचे दिए गए नंबर्स पर संपर्क कर सकते हैं। डेलिगेट्स के रहने की व्यवस्था निशुल्क की गई है।

*धन्यवाद*

*अतुल राजपाल*

*संयोजक* 

*राष्ट्रीय सिंधी अधिकार मंच*

संपर्क सूत्र

अतुल राजपाल   9335037618

Adv. विजय राजवानी  9891649200

हरेश राजानी     9979797758

दिपक रतनानी     7842495593

मोहन कोटवानी    9713277777

विनीता बसंतानी   94054 29484

विजय खत्री    9840699944

Recent Posts

Leave a Comment